06/06/2022

🙏 Good morning 🌄 😀 : जब आप खुद का सम्मान करते हैं, तभी आप दूसरों का सम्मान पा सकते हैं।

RO No. 12111/113

प्यार सबसे खूबसूरत रिश्ता है, पर बिना सम्मान के इसे भी मरते देर नहीं लगती। इसलिए यह जरूरी है कि आप अपने रिश्ते में सम्मान हासिल करना जानती हों। अपने जीवनसाथी से सम्मान न मिले तो रिश्ता एक बोझ लगने लगता है लेकिन अपने रिश्ते में कुछ समझदारी भरा निवेश करके आप अपने जीवनसाथी का आदर हासिल कर सकते हैं और इस रिश्ते को मजबूती दे सकते हैं। मजबूत रिश्ते के लिए जरूरी है कि एक पार्टनर दूसरे की अहमियत समझे और उसे आदर दे। आप भी हमेशा यही चाहते हैं कि आपका पार्टनर आपको एक इंसान जितना मूल्यवान समझें और आपकी क्षमताओं का आदर करे। दरअसल कुछ पुरुष तो ऐसा करने में माहिर भी होते हैं लेकिन कुछ को इस दिशा में आगे बढ़ाने के लिए महिलाओं को खास कोशिश करने की जरूरत पड़ सकती है।

रिश्ता एक ऐसा अनमोल शब्द है जो दो परिवारों को, दो व्यक्तियों को आपस में जोड़ता है. दुनिया में कोई व्यक्ति अकेले नहीं रह सकता है. इसलिए भगवान ने रिश्तों का निर्माण किया और बहुत ही खूबसूरती के साथ व्यक्तियों को रिश्तों में पिरो दिया. रिश्ते हर तरह के होते हैं. ये आपकी जिंदगी में खुशियां भी लाते हैं और दु:ख भी पहुंचाते हैं। यदि रिश्ते में प्रेम हो, एक-दूसरे के प्रति सम्मान हो, तभी हमारी आपस की बॉन्डिंग मजबूत होती है। यदि हम अपने पार्टनर को सम्मान देते हैं, तो उन्हें यह सिखा भी सकते हैं कि पार्टनर का सम्मान कैसे किया जाता है? दरअसल, रिश्ते में सम्मान हासिल करने का सबसे अच्छा तरीका है एक अच्छा श्रोता होना और अपनी बातों से एक-दूसरे की परवाह का प्रदर्शन करना। रिश्ते में सम्मान पाने के लिए यहां कुछ टिप्स दिए गए हैं, जिनका पालन करना बेहद जरूरी है।

टिप्स जो आपको रिश्ते में सम्मान बनाए रखने में मदद करेंगे 

प्यार दें, पर अपनी क्षमता न खाेएं 
हमेशा याद रखें कि प्यार किसी भी चीज से ज्यादा शक्तिशाली होता है। आप अपने साथी को वह सब कुछ दे सकते हैं, जिनकी वे कभी आपसे मांग कर सकते हैं। यदि वे आपके प्यार के प्रति कोई सराहना नहीं दिखाते हैं, तो इसका मतलब है कि आपको सम्मान नहीं मिल रहा है। आपको अपनी ताकत खाेनी नहीं, बल्कि पहचाननी है।

रिश्ते में संतुलन है बेहद जरूरी
प्यार में उदार बनना अच्छी बात है, लेकिन बुरा व्यवहार करना बिल्कुल गलत बात है। यदि आप अपने साथी के बुरे व्यवहार को लगातार झेल रहे हैं, तो इसका मतलब है कि यह रिश्ता आपको खत्म कर देने वाला है। आपको यह सुनिश्चित करना होगा कि आपको अपनी और अपने पार्टनर की जरूरतों के लिए खड़ा होना है। उन्हें यह बताना बेहद जरूरी है कि उन्हें क्या करना चाहिए? उन्हें यह बताएं कि रिश्ते को टिकाऊ बनाने के लिए संतुलन बेहद जरूरी है। इससे आपको उनका सम्मान हासिल करने में मदद मिलेगी।

सीमा निर्धारित करें
दोनों पार्टनर को रिश्ते के भीतर सीमाएं निर्धारित करनी चाहिए। उदाहरण के लिए यदि एक साथी सारा दिन घर पर काम करना चाहता है, जबकि दूसरा पार्टनर खरीदारी के लिए बाहर जाना चाहता है, तो सबसे पहले इस बात पर चर्चा कर तय कर लेना चाहिए कि किसे, कब तक, कौन सा काम करना है। यदि आप जानते हैं कि आप क्या चाहते हैं और आप जो चाहते हैं, उस पर वे सहमत हो सकते हैं, तो इसे हासिल करना और सीमाएं निर्धारित करना आसान हो जाता है।

एक दूसरे को स्पेस दें
एक दूसरे की निजता में दखलंदाजी करना या अपने पार्टनर की जिंदगी को अपने वॉच में रखने की कोशिश एक दूसरे के सम्मान के लिए बेहद घातक होती है। जरूरी है कि आत्मविश्वास बनाए रखा जाए और वो करने की कोशिश कोई बिलकुल भी ना करे जो उसे अपने लिए अच्छा नहीं लगता। इसके बाद ही आपको सम्मान मिलेगा और आप दूसरे को सम्मान दे सकेंगे।

खुद का सम्मान करें, ताकि दूसरे आपका सम्मान कर सकें
यह एक अत्यंत महत्वपूर्ण टिप्स है। यह आपको सम्मान प्राप्त करने में मदद करेगी। पहले खुद का सम्मान करें, क्योंकि बिना स्वाभिमान के कभी आपको रिश्ते में सम्मान नहीं मिल सकता है। आत्मज्ञान और मौलिक आत्म स्वीकृति ही आपको आत्मसम्मान की ओर ले जाएगी।

खुद को और अपनी जरूरतों को जानें
जब आप अपना अच्छा पक्ष जानते हैं और आप यह सोचते हैं कि आप किसी एक काम में परफेक्ट नहीं हैं, तो फिर सामने वाला भी आपको उसी नजरिये से देखेगा। आपकी कमियों के बारे में आपको बताएगा। यदि यह स्पष्ट हो कि आप जीवन से क्या चाहते हैं, तो सबसे पहले आपको अपनी कमियों नहीं खूबियों पर ध्यान देना होगा। आगे आप उन चीजों को प्राप्त करने के तरीके भी खोज लेंगे। इसलिए अपनी ताकत और कमजोरियों की पहचान करना सीखें और इनका अपने लाभ के लिए उपयोग करें। यह आपको रिश्ते में सम्मान दिलाने में मदद करेगा।

खुद को और अपने साथी को स्वीकार करें 
हम सभी अपनी खामियों के साथ ही रहते हैं। हमें किसी और से पूर्णता की उम्मीद नहीं करनी चाहिए। हमें अपने साथ-साथ अपने पार्टनर की खूबियों और खामियों को भी स्वीकार करने का प्रयास करना चाहिए। अपनी समस्याओं के बारे में बात करने के लिए घर में एक सुरक्षित स्थान ढूंढ़ें। आपको निश्चित रूप से उनकी भी बात सुननी चाहिए।

तमीज से व्यवाहर करें
अगर आपको लगता है कि अब्यूसिव भाषा आपकी क्लोजनेस को दिखाती है तो इसे दिमाग से निकाल दे ये सिर्फ दूसरे की नजर में आपकी इज्जत को कम करती है। प्यार भरे रिश्तो में भी मीठी भाषा का ही जादू चलता है और इज्जत मिलती है।

तुम ही हो बंधू सखा
रोमांस के लिए तो ठीक है पर हर बात, हर जगह और हर काम में अपने पार्टनर को घसीटना ठीक नहीं है। मेरी जिंदगी बस तुम्हारे साथ और तुम्हारे ही इर्द र्गिद ही है वरना कुछ नहीं है ये कहने वाले लोग कभी भी अपने पार्टनर से हज्जत हासिल नहीं कर सकते। आप अपना कान्फीडेंस खोते हैं तो सम्मान भी खो देते हैं और किसी के चारों तरफ अपनी लाइफ जीना आपके आत्मविश्वास को खत्म कर देता है।

ईमानदारी है जरूरी
लगातार झूठ बोलना, मैन्युप्लेट करना और दुराव छिपाव करना ये सब आपकी अहमियत को कम करते हैं। साफ बात करना यानि ऑनेस्ट बिहेवियर ही ऐसी कुंजी है जो आपको अपने पार्टनर से इज्जत दिला सकती है। इसके साथ ही जरूरी है कि आप दूसरे के प्वाइंट ऑफ व्यू की भी इज्जत करें उसे समझें ताकि उसे भी झूठ का सहारा ना लेना पड़े।

अनादर होने पर चुप न रहें
यदि आपके साथ बुरा व्यवहार किया जाता है, तो आपको बोलना चाहिए। आपको कभी भी अपने आप को कमतर नहीं आंकना चाहिए। खासकर यदि आप गलत नहीं हैं, तो कभी-भी चुप न रहें। यदि आप चुप रह जाते हैं, तो आप केवल सामने वाले के व्यवहार को ही बढ़ावा दे रहे हैं। साथ ही, रिश्ते में अपना सम्मान खो रहे हैं।

अपनी ही ना चलायें
अगर इज्जत चाहिए तो दूसरे को भी अपने फैसले करने और अपने तरीके से जीने की इजाजत देनी पड़ेगी। सिर्फ एक जना ही अपने फैसले दूसरे पर थोपता रहेगा तो फिर जिसे दबाया जा रहा है विरोध चाहे उतना मुखर हो कर ना करे पर सम्मान तो नहीं ही देगा। मौका मिलते ही आपके विरुद्ध खड़ा हो जाएगा। इसी में ये भी बात भी आती है कि आप सामने वाले को भी ये अहसास दिलायें की उसके कौन से तरीके से आपको तकलीफ होती है। क्योंकि जैसे डॉमिनेटिंग होना गलत है वैसे ही सब कुछ चुपचाप सहना भी गलत है। नैगिंग ना करें पर बात को कहें जरूर वरना आपकी वैल्यू ही खत्म हो जाएगी।

गुस्से को नियंत्रित करें
गुस्सा किसी भी रिश्ते के लिए सबसे घातक होता है। खास कर अनियंत्रित गुस्सा, इसलिए अपने गुस्से को काबू करें। जरूरत से ज्यादा और बेवजह गुस्सा आपको पागल बना सकता है पर इज्जत नहीं दिला सकता। गलत बात पर रिएक्ट करें और अपनी नापसंदगी स्पष्ट रूप से जतायें पर चीखना चिल्लाना, या मिसबिहेव करना ठीक नहीं है।

मतभेद रिश्ते पर हावी ना होने दें
अगर दो लोगों के विचार नहीं मिलते तो इसका मतलब ये नही है कि वे एक रिश्ते में नहीं रह सकते। एक दूसरे के विचारों का सम्मान करें और अपने ही चुने रास्ते पर चलते हुए कोशिश करें कि दूसरे को नैग करते हुए वहां ना लायें जहां से मतभेद झगड़े में बदल जाए और आप दूसरे को इज्जत देना भूल जाएं। सबसे बड़ी बात ये है कि आप इज्जत दें और इस बात को स्पष्ट रूप से जतायें की उतनी ही इज्जत बदले में आपको चाहिए। इसके लिए रिश्ता तोड़ने की नहीं बल्की बीच में गलतफहमियों की दीवार को तोड़ना जरूरी है। लिहाजा अपने आत्मविश्वास को बनाये रखें कि आप एक ऐसे शख्स हैं जिसे इज्जत मिलनी चाहिए और अपने पार्टनर की इज्जत करना आपके लिए जरूरी है बस सब ठीक हो जाएगा।

परिवार से मदद लें
यदि चीजों को मैनेज करना मुश्किल हो रहा हो और आप जानते हैं कि आपका अपमान किया जा रहा है, तो आपको परिवार के सदस्यों से मदद लेनी चाहिए। इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप शादीशुदा हैं या लिव इन में हैं। जान लें कि आपको हमेशा अपने प्रियजनों का समर्थन मिलेगा। आप जरूरत के समय उन पर भरोसा कर सकते हैं। उनसे बात करने से आपको रिश्ते में विश्वास और सम्मान वापस पाने में मदद मिलेगी।

प्रोफेशनल मदद भी ले सकती हैं 
यदि आप तनाव महसूस कर रही हैं, तो आपको पेशेवर की मदद लेनी चाहिए। मनोवैज्ञानिक, काउंसलर, मनोचिकित्सक, और कोच सहित कई प्रकार के पेशेवर उपलब्ध हैं। ये पेशेवर आपको किसी भी समस्या के बारे में मार्गदर्शन करने में सक्षम होंगे। उनसे आपको यह सलाह भी मिल पाएगी कि आप अपने रिश्ते को कैसे सुधार सकते हैं। एक मजबूत रिश्ते के लिए जरूरी है कि आप एक-दूसरे से प्यार करें। सम्मान एक ऐसी चीज है, जिसका हर कोई हकदार है। लिंग, जाति, धर्म और सेक्सुअल ऑरिएंटेशन की परवाह किए बिना एक-दूसरे का सम्मान करें।

प्रत्येक व्यक्ति का व्यक्तित्व और जरूरतें अलग-अलग होती हैं। कोई भी दो व्यक्ति या परिस्थितियां एक जैसी नहीं होती हैं। जब आप खुद का सम्मान करते हैं, तभी आप दूसरों का सम्मान पा सकते हैं। इसलिए याद रखें कि हमेशा अपने आप से प्यार करें। तभी दूसरे भी आपके साथ वैसा ही व्यवहार करेंगे।

SR Hospital 13 Oct 2020
Milstone 1 feb 2022
Sparsh 14 march 2022
SBS Hospital 20 april 2022
Nayantara-17-November-2021 new
Abs foundation 6 Jin 2022
Frofaitional career 8 June 2022
Jully Add 1
Shamsher shidhiqi 10 july 2022
Atul chand sahu 6 august 2022
IMG-20220803-WA0006
Keshav banchor 6 August 2022
SR Hospital 13 Oct 2020 Milstone 1 feb 2022 Sparsh 14 march 2022 SBS Hospital 20 april 2022 Nayantara-17-November-2021 new Abs foundation 6 Jin 2022 Frofaitional career 8 June 2022 Jully Add 1 Shamsher shidhiqi 10 july 2022 Atul chand sahu 6 august 2022 IMG-20220803-WA0006 Keshav banchor 6 August 2022

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed